Shodhmanthan Vol. IX 2018 No.1

  1. पं0 दीनदयाल उपाध्यय का राजनितिक दर्शन – डॉ. शिवली अग्रवाल

  2. वर्तमान परिपेक्ष्य में परिवारों में वृद्धो की स्थिति – डॉ. ज़किया रफत

  3. भारतीय अर्थव्यवस्था में जननकिया लाभांश – डॉ. मंजू मगन

  4. ग्राम पंचायतो में ग्रामीण महिलाओ की भूमिका – डॉ. सीमा रानी

  5. लम्बी समख्यानक कविता एवं मुक्त छंद के प्रथम प्रयोक्ता कवी बाबू महेश नारायण – डॉ. प्रभात रंजन

  6. महिलाओ के विरुद्ध अपराध : भारत में राजनितिक अर्थव्यवस्था के प्रभावों का विश्लेषण  – अनिल कुमार

  7. पं० दीनदयाल उपाध्यय जी के मौलिक, दार्शनिक ,एवं शैक्षिक विचार – डॉ. दीपक तोमर

  8. विश्व स्तर पर पर्यटकों को आकर्षित करती किशनगढ़ चित्रशैली – डॉ. रीता सिंह

  9. हिमांचल प्रदेश का पारम्परिक लोक गायन जत्ती – आचार्य परमानन्द बंसल , डॉ. पुष्पा चौहान

  10. भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता में प्रागैतिहासिक शैल चित्रण – डॉ. पूजा कपिल

  11. जनपद मेरठ में जल संसाधनों का कृषि विकास पर प्रभाव का भौगोलिक विकास – डॉ. कंचन यादव

  12. कामन्दकीय नीतिसार एक समीक्षात्मक अध्ययन – डॉ. बृजेन्द्र गुर्ज्जर

  13. आतंकवाद : एक मानसिक अवसाद – डॉ. श्वेता  जैन

  14. जनपद अमरोहा की तहसीलों में धौनोरा एवं हसनपुर के आर्थिक विकास में संसाधनों का योगदान – डॉ. अनिल कुमार

  15. बाल अपराधी : एक समाजशास्त्रीय अध्ययन – डॉ. ज़किया रफत

  16. भारत में महिलाओ की एक शैक्षिक स्थिति – श्वेता  राय

  17. हिंदी एकांकी एवं डॉ. लक्ष्मी  नारायण लाल – राजकुमार पाण्डेय

  18. वेदप्रसाद अमिताभ की लघु कथाएँ : समय समाज से गहरी सम्पृक्ति – डॉ. देवेंद्र कुमार

  19. गरयाबंद जिले के साप्ताहिक बाजारों में अनुसूचित जाती एवं जनजाति की भूमिका – एक भौगोलिक विश्लेषण – डॉ. (श्रीमती ) ज़ेड टी खान , राजवंश कौर कोहली

  20. नव माध्यम का दौर – डॉ. महावीर सिंह , डॉ. प्रशांत कुमार , निशा सिरोही